चित्रांगदा सिंह

चित्रांगदा सिंह का जन्म राजस्थान के जोधपुर में 1976 में हुआ था। उनके पिता निरंजन सिंह एक आर्मी ऑफिसर थे। चित्रांगदा सिंह ने अपनी शुरुआती पढाई मेरठ से की है। जिसके बाद होम साइंस से उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन दिल्ली विश्वविद्यालय से की। चित्रागंदा सिंह कथक नृतिका भी बहुत अच्छा करती है।

चित्रांगदा सिंह की शादी एक गोल्फ प्लेयर ज्योति रांधवा से हुई थी लेकिन जल्द ही दोनों अलग हो गए।
अपनी पढाई खत्म करने के बाद उन्होंने मॉडलिंग की दुनिया में अपना कदम रखा। मॉडलिंग के बाद उन्होंने बॉलीवुड के रास्तों पर कदम रखा। चित्रांगदा सिंह को अपना पहला ब्रेक 2003 में फिल्म हजारों ख्वाइशें ऐसी में मिला था। उन्होंने इसके अलावा भी काफी फिल्मों में काम किया पर ज्यादा चली नहीं । लेकिन वर्ष 2015 में बड़े पर्दें पर गब्बर इज बैक में आइटम सांग कुंडी मत खडकाओ राजा सीधे अंदर आओ राजा में नजर आई जिससे उन्हें एक नई प्रसिद्धी मिली।

महिमा चौधरी

महिमा चौधरी दिल्ली की रहने वाली है। उनका जन्म 1973 में पश्चिम बंगाल में हुआ था। आपको जान कर हैरानी होगी की उनका वास्तविक नाम ऋतु चौधरी है। उनके पिता उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे जबकि उनकी मां नेपाली थीं।

महिमा चौधरी ने भी मॉडलिंग से होते हुए बॉलीवुड में अपना कदम रखा। उन्होंने दिल क्या करे, दाग द फायर, धडकन, ये तेरा घर ये मेरा घर , दिल है तुम्हारा, लज्जा, ओम जय जगदीश और बागबान जैसे महत्वपूर्ण फिल्मों में काम किया है। महिमा चौधरी की शुरूआती डाउन हिल स्कूल से संपन्न हुई है। जबकि अपनी कॉेलेज की पढाई उन्होंने दार्जलिंग से की है। 1990 में पढाई छोडकर वे मॉडलिंग की दुनिया में चली गई थी। जबकि 1997 में रिलीज हई परदेस फिल्म से उन्होंने बालीवुड की दुनिया में कदम रखा। यह फिल्म उन्होंने शाहरूख खान के साथ की थी। महिमा चौधरी को जी सीनेमा अवार्ड में बेस्ट फीमेल अवॉर्ड , जी सीनेमा लक्स फेस ऑफ दी ईयर अवार्ड, बेस्ट स्पोटिंग अवॉर्ड से भी नवाजा जा चुका है।

मिनिषा लाम्बा

मिनिषा लाम्बा का जन्म दिल्ली में 1985 में हुआ था। उनके पिता एस केवल लाम्बा आर्मी में थे जबकि उनकी मा मंजू लाम्बा एक गृहणी है। मिनिषा के भाई का नाम करन लाम्बा है। मिनिषा लाम्बा की प्रारंभिक शिक्षा चैन्नई और श्रीनगर से की जबकि उन्होंने अपना ग्रेजुएशन दिल्ली के मिरिंडा हाउस से अंग्रेजी ऑनर्स में पूरा किया है। उन्होंने मॉडलिंग के रास्ते से बालीवुड का रास्ता तय किया। एलजी, सोनी, कैडबरी, हाजमोला, एयरटेल जैसे विज्ञापनों में काम किया है।

इसके अलावा 2005 में रिलीज हुई यहां फिल्म में काम किया। इसके बाद अदा, कॉर्पोरेट , रॉकी द रिबेल , प्रिया एंथनी कौन है आदि फिल्मों में भी काम किया है ।
इसके अलावा बिग बॉस 8 में उन्होंने कंटेस्टेंट के रूप में भी काम किया है। शो के दौरान आर्य बब्बर ने कहा था कि मिनिषा लाम्बा को डेट कर चुके है लेकिन शो से बाहर आने के बाद मिनिषा ने इस बात को सिरे से नकारते हुए कहा कि वह केवल उनका एक दोस्त है। फिल्मों में काम करने से उनकी दोस्ती हुई है लेकिन इसके अलावा कुछ नहीं है।

मल्लिका शेहरावत हॉलीवुड में भी किया है काम

रीमा लांबा उर्फ़ मल्लिका सहरावत भारतीय सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं जो मुख्य तौर पर हिंदी फ़िल्मों में काम करती हैं। ये परदे पर अपने बेबाक अंदाज़ के लिए जानी जाती हैं। 2000 के दशक में ख़्वाहिश और मर्डर की मदद से इन्होंने अपने आप को एक सेक्स सिंबल तथा बॉलीवुड की सबसे लोकप्रिय हस्तियों में से एक के रूप में क़ाएम किया। इसके बाद ये सफल रोमानी कॉमेडी फ़िल्म प्यार के साइड इफ़ेक्ट्स में नज़र आयीं, जिसने इन्हें बहुत समालोचक प्रशंसा दिलवाई। ये भारत की पहली ऐक्ट्रेस हैं जिन्होंने जैकी चैन के साथ काम किया।

मल्लिका का अर्थ रानी होता है और ये चाहती भी है कि लोग इन्हें इसी नाम से पुकारें। शेरावत इनकी माँ का विवाह से पहले सरनेम था। जून 2007 में हॉन्ग कॉन्ग की एक प्रसिद्ध पत्रिका ने इन्हें एशिया के 100 सर्वाधिक सुंदर लोगों की फ़ेहरिस्त में स्थान दिया।

मल्लिका शेहरावत का जन्म हरियाणा के हिसार जिले के छोटे से गांव मोथ में 1976 में हुआ था। अपनी शुरूआती पढाई उन्होंने रोहतक से की जिसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से उन्होंने दर्शनशास्त्र में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की। मल्लिका शेरावत का असली नाम रीमा लांबा है। आपको एक बात रोचक बताए की शेरावत मल्लिका की मां का शादी से पहले सरनेम था जिसे उन्होंने अपनाया क्योंकि उनका कहना है कि उनकी मां ने हर कदम व परेशानी में उसका साथ दिया जिसके कारण उन्होंने अपने पिता की जगह अपनी मां का सरनेम लगाया।

मल्लिका के परिवार वाले मल्लिका के फिल्मों में आने के सख्त खिलाफ थे। उन्होंने अपने करियर की शुरूआत एक एयर होस्टेस से की जिसके बाद मॉडल की दिशा में मुड गई । छोटे छोटे टीवी विज्ञापनों से होते हुए उन्होंने बालीवुड तक का सफर तय किया । उनकी सबसे पहली फिल्म जीना सिर्फ मेरे लिये थी। जबकि मर्डर फिल्म से वे चर्चा में आई थी। इसके अलावा हॉगकॉग की एक मशहूर मैगजीन ने सन 2007 में एशिया की सबसे खूबसूरत 100 लोगों की सूची में उन्हें रखा था जो एक बहुत बढी उपलब्धि है। इसके अलावा मल्लिका ने हॉलीवुड में भी काम किया है।

मेघना मलिक

मेघना मलिक का जन्म 1971 में हरियाणा के सोनीपत में हुआ। मेघना के पिता रघुवीर सिंह मलिक एक इंग्लिश लिटरेचर के प्रोफेसर थे जबकि मां कमलेश मलिक एक स्कूल की प्रिंसिपल व लेखिका थी। उनकी बहन मीमांसा पेशे से एक न्यूज एंकर व प्रोड्यूसर है । मेघना की प्रारंभिक शिक्षा सोनीपत के प्राईवेट स्कूल से हुई जबकि उसके बाद उन्होंने मोतीलाल नेहरू स्कूल ऑफ स्पोटर्स से पढाई की।

इसके बाद कुरूक्षेत्र से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की। उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग क्लास ली । मेघना ने सबसे पहले 1998 में वो हुए ना हमारे टीवी सीरियल में अभिनय किया था। जिसके बाद यह है मुंबई मेरी जान, हर घर कुछ कहता है में भी काम किया है। मेघना का सबसे शानदार किरदार ना आना इस देश लाडो में भवानी उर्फ अम्माजी का रहा है। इसके अलावा रियलिटी शो झलक दिखला जा में भी भाग लिया है। इसके अलावा मेघना ने बालीवुड फिल्म चलते चलते , कुछ ना कहो , तारे जमीन पर , सहर और पल पल दिल के पास में भी अभिनय किया है।
मेघना को डांस करना , ड्राइविंग करना और घूमना काफी पसंद है।

मेघना मलिक एक भारतीय फिल्म, टेलीविजन और थिएटर अभिनेत्री हैं। जनता को मेघना का पसंदीदा किरदार कलर्स टीवी का लोगप्रिय सीरियल ‘ना आना इस देस लाडो’ में ‘अम्माजी’ का लगता है। यह सीरियल एक हरयाणा के गांव में जहां लड़कियों की हत्या और औरतो के साथ जुल्म होता है, उस पर आधारित था। 2013 में मेघना मलिक ने कलर्स के रियलिटी शो ‘झलक दिख जा’ में कंटेस्टेंट के रूप में भाग लिया था।

2016 में मेघना स्टार प्लस के शो ‘दहलीज़’ में दिखाई दीं थी। 2017 में उन्होंने एक बार फिर ‘लाडो 2 – वीरपुर की मर्दानी’ में ‘अम्माजी’ के रूप में अपनी भूमिका को दोहराया था। हालांकि उन्होंने 2018 की शुरुआत में ही इस शो को छोड़ दिया था। टीवी सीरियल के अलावा मेघना ने कुछ फिल्मो में भी अभिनय किया है जैसे ‘तारे ज़मीन पर’, ‘ज़ुबान’, ‘सहर’। हालही में मेघना का नाम बिग बॉस 13 में कंटेस्टेंट के रूप में भी सुना गया था